Rakesh Tikait

Kisan Mahapanchayat को आखिर दिल्ली पुलिस ने क्यों नहीं दी प्रदर्शन की इजाजत

Kisan Mahapanchayat को आखिर दिल्ली पुलिस ने क्यों नहीं दी प्रदर्शन की इजाजत

नई दिल्ली: संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर सोमवार को यानी आज जंतर-मंतर पर किसानों की महापंचायत (Kisan Mahapanchayat) होगी। इसमें बड़ी संख्या में किसानों के आने की संभावना है। महापंचायत में भाग लेने के लिए किसान शनिवार से ही दिल्ली पहुंच रहे हैं। दिल्ली पुलिस ने प्रदर्शन की इजाजत नहीं दी है। बॉर्डर पर बैरिकेडिंग कर सुरक्षा-व्यवस्था कड़ी कर दी है। मीडिया खबरों के मुताबिक किसान दिल्ली में प्रवेश ना कर सकें इसलिए जांच के लिए सुरक्षाबलों के साथ स्थानीय पुलिसकर्मियों की भी तैनाती की गई है। दिल्ली के ट्रैफिक पर धरना-प्रदर्शन का ज्यादा असर ना पड़े जिसे लेकर…
Read More
Rajya Sabha से भी पारित हुआ कृषि कानून वापसी बिल, विपक्ष के हंगामे के बीच मिली मंजूरी

Rajya Sabha से भी पारित हुआ कृषि कानून वापसी बिल, विपक्ष के हंगामे के बीच मिली मंजूरी

नई दिल्ली: कृषि कानूनों की वापसी के मद्देनजर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का वादा शीत सत्र के पहले ही दिन पूरा हो गया है। लोकसभा के बाद अब राज्यसभा (Rajya Sabha) से भी कृषि कानूनों की वापसी का विधेयक पारित हो गया है। विपक्ष के हंगामे के बीच इस बिल को मंजूरी मिली है। अब राष्ट्रपति के हस्ताक्षर के साथ ही कानूनों की वापसी की औपचारिकता पूरी हो जाएगी। इन कानूनों की वापसी के बाद सवाल उठ रहा है कि क्या किसान आंदोलनकारी अब घरों को लौट जाएंगे या फिर अब भी धरने पर डटे रहेंगे। हालांकि किसान नेता राकेश टिकैत…
Read More
राकेश टिकैत से संजय राउत ने कहा- PM Modi की बात पर यकीन करना चाहिए

राकेश टिकैत से संजय राउत ने कहा- PM Modi की बात पर यकीन करना चाहिए

नई दिल्ली: मोदी सरकार ने तीनों कृषि कानूनों को वापस ले लिया है। गुरू नानक देव के प्रकाश पर्व के मौके पर देश को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी (PM Modi) ने कहा कि किसानों के हित की बात हम कुछ किसानों को समझा नहीं पाए और शायद हमारी तपस्या में कमी रही। भले ही किसानों का एक वर्ग इसका विरोध कर रहा था। हमने कृषि कानूनों को वापस लेने का फैसला किया है। मोदी सरकार के इस कदम पर नेताओं की लगातार टिप्पणियां आ रही है। इसी सिलसिले में शिवसेना सेना संजय राउत ने राकेश टिकैत से कहा है…
Read More
‘लखनऊ में महापंचायत किसान विरोधी सरकार और काले कानूनों के ताबूत में आखिरी कील साबित होगी’

‘लखनऊ में महापंचायत किसान विरोधी सरकार और काले कानूनों के ताबूत में आखिरी कील साबित होगी’

गाजियाबाद: केंद्र के तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ जारी किसान आंदोलन को अब एक वर्ष होने जा रहा है। ऐसे में संयुक्त किसान मोर्चा 22 नवंबर को लखनऊ में किसान महापंचायत आयोजित करने जा रहा है। आंदोलन की अगुवाई कर रहे भारतीय किसान यूनियन (BKU) के नेता राकेश टिकैत ने इस महापंचायत को ऐतिहासिक बनाने की हुंकार भरते हुए कहा- यह महापंचायत किसान विरोधी सरकार और तीन काले कानूनों के ताबूत में आखिरी कील साबित होगी। राकेश टिकैत ने कहा कि कृषि कानूनों के खिलाफ पूर्वांचल में भी विरोध तेज किया जाएगा, जिसमें पूर्वी उत्तर प्रदेश और पश्चिमी विहार…
Read More
रेल रोको आंदोलन: सरकार ने अभी तक हमसे बात नहीं की है: Rakesh Tikait

रेल रोको आंदोलन: सरकार ने अभी तक हमसे बात नहीं की है: Rakesh Tikait

नई दिल्ली : संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) केंद्रीय राज्य मंत्री अजय मिश्रा की बर्खास्तगी और गिरफ्तारी की मांग को लेकर संयुक्त किसान मोर्चा देशव्यापी 'रेल रोको' विरोध प्रदर्शन कर रहा है। भारतीय किसान संघ के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने सोमवार को कहा कि सरकार ने अभी तक उनसे इस संबंध में बात नहीं की है। Rakesh Tikait ने कहा कि देश भर के विभिन्न जिलों में यह विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है। इस आंदोलन का समर्थन करने वाले देश के लोग रेल रोको आंदोलन के बारे में जानते हैं। केंद्र सरकार ने अभी तक हमसे इस मामले में बात…
Read More
सिंघू सीमा पर हत्या ‘दुर्भाग्यपूर्ण’, किसानों के विरोध को प्रभावित नहीं करेगा: Rakesh Tikait

सिंघू सीमा पर हत्या ‘दुर्भाग्यपूर्ण’, किसानों के विरोध को प्रभावित नहीं करेगा: Rakesh Tikait

नई दिल्ली: भारतीय किसान संघ (BKU) के नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) ने शनिवार को कहा कि सिंघू सीमा के पास एक व्यक्ति की कथित हत्या दुर्भाग्यपूर्ण थी लेकिन यह केंद्र के तीन कृषि कानून को लेकर किसानों के विरोध को प्रभावित नहीं करेगी। टिकैत ने कहा कि जो कुछ भी हुआ वह गलत और दुर्भाग्यपूर्ण है। किसी ने उसे मार डाला और बाद में पुलिस ने हत्यारे को गिरफ्तार कर लिया। मामला जांच का विषय है। इससे हमारे विरोध पर कोई असर नहीं पड़ेगा। इसे भी पढ़ें: कोई गलती न करें, भारत हमारे सबसे करीबी रणनीतिक साझेदारों में से…
Read More
यूपी में सबसे महंगी है बिजली, मुकदमे सबसे ज्यादा यूपी में होते है- राकेश टिकैत

यूपी में सबसे महंगी है बिजली, मुकदमे सबसे ज्यादा यूपी में होते है- राकेश टिकैत

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के हमीरपुर जिले में किसान महापंचायत में शामिल होने पहुंचे भारतीय किसान यूनियन (भाकियू) के राष्ट्रीय अध्यक्ष राकेश टिकैत ने बुन्देखण्ड के किसानों को अलग से बुंदेलखंड पैकेज देने की वकालत की साथ ही साथ उन्होंने कहा कि बंगलादेश भी आजादी की लड़ाई में शामिल था इसलिए उसका जिक्र करना भी जरूरी है। वहीं, एमएसपी पर सरकार को घेरते हुये कहा कि मोदी जी ने कहा है कि जनवरी से हर फसलों के दाम दुगने होगे ऐसे में अगर यह हो जाता है तो वो खुद बीजेपी का प्रचार करेंगे वहीं उन्होंने यह भी कहा कि बिजली…
Read More